रंजिश ही सही  Ranjish hi Sahi lyrics hindi - Mehdi Hassan

रंजिश ही सही  Ranjish hi Sahi lyrics hindi - Mehdi Hasan

superhit urdu ghazal

ranjish hi sahi music video:


Ghazal lyrics in hindi

Ranjish hi sahi lyrics

Ranjish hi sahi very beautiful ghazal song sung by Mehdi hassan, written by Ahmed faraz with taal Dadra. one of the greatest and most influential figures in the history ghazal singing, Mehdi hassan is famously known as the "King Of Ghazal" or the "shahanshah-e-ghazal".

Ranjish hi sahi song credits:

गाना: रंजिश ही सही 
गायक: मेहदी हसन 
गीतकार: अहमद  फराज़ 
ताल: दादरा 

Ranjish hi Sahi lyrics in hindi

Ghazal

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदें
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूम
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

कुछ तो मेरे पिन्दार-ए-मोहब्बत का भरम रख
तू भी तो कभी मुझ को मनाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ
रंजिश ही सही...

जैसे तुम्हें आते हैं ना आने के बहाने
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ
रंजिश ही सही...

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम
तू मुझ से खफा है तो ज़माने के लिये आ
रंजिश ही सही...

best ghazal lyrics 

song credits:

Song:                 Ranjish hi Sahi
Performed by:  Mehdi hassan 
Lyrics:               Ahmed Faraaz
Taal:                  Dadra